हमराही

सुस्वागतम ! अपना बहुमूल्य समय निकाल कर अपनी राय अवश्य रखें पक्ष में या विपक्ष में ,धन्यवाद !!!!

Wednesday, February 22, 2012

''गुज़ारिश''

लम्हों ने गुज़ारिश की है,जो पहलू में आओ तो बात बने,
गुज़ारिश अपनी जो ''गुज़ारिश'' में सुनाओ तो बात बने !
पल पल की कसक जो मुझसे बतीयाओ, तो बात बने,
पंख नये लगाकर ,उड़ान नई भर आओ, तो बात बने !!