हमराही

सुस्वागतम ! अपना बहुमूल्य समय निकाल कर अपनी राय अवश्य रखें पक्ष में या विपक्ष में ,धन्यवाद !!!!

Monday, September 30, 2013

चली आना बनी राधा किसी पैगाम से पहले

मुझे अब माफ़ कर देना खुदा अंजाम से पहले 
लिया है नाम उसका जो तुम्हारे नाम से पहले //

बनो सीता अगर तो साथ तुम देना हमेशा ही 
न लक्ष्मण रेखा यूँहीं  लांघना तुम राम से पहले // 

तुम्हें राधा सा बनना श्याम की इस सूने जीवन में 
तुम्हारा नाम भी आएगा मेरे नाम से पहले //  

अगर दुख सुख में यूँहीं साथ तुम मेरा निभाओगी 
करूँगा पूरा हर अरमान जीवन शाम से पहले //

बजी जो मुरलिया मेरी धुनों से प्यार निकलेगा 
चली आना बनी राधा किसी पैगाम से पहले //

मिला जो साथ तेरा जिंदगी भर के लिए मुझको  
सफलता देख लूँगा आ गए परिणाम से पहले //
**********