हमराही

सुस्वागतम ! अपना बहुमूल्य समय निकाल कर अपनी राय अवश्य रखें पक्ष में या विपक्ष में ,धन्यवाद !!!!

Tuesday, October 22, 2013

करवाचौथ दोहे

आये कार्तिक माह में ,कृष्ण पक्ष की चौथ
व्रत निर्जला सुहागिनें , करतीं करवाचौथ /

दिन है यह सौभाग्य का, कमी न रखना शेष
कर सोलह श्रृंगार लो, करवाचौथ विशेष /  

सब पति की दीर्घायु का,करती हैं उपवास 
प्रतीक्षा चंद्रोदय की ,इस दिन होती ख़ास /

शुरू हो सूर्योदय से, चाँद देखके पूर्ण 
श्रद्धा और उत्साह से , करती हैं संपूर्ण /

चंद्रोदय के बाद ही ,मिलता है संयोग 
अर्घ्य दे सभी चाँद को ,उसे लगाती भोग /

निर्जल व्रत है चौथ का , करे सुहागिन नार 
जल पिए बाद अर्घ्य के , कर सोलह श्रृंगार //
******