हमराही

सुस्वागतम ! अपना बहुमूल्य समय निकाल कर अपनी राय अवश्य रखें पक्ष में या विपक्ष में ,धन्यवाद !!!!

Tuesday, March 24, 2015

स्कंदमात ,कात्यायनी माँ ,कालरात्रि माँ [दोहे ]

स्कंदमात है पांचवां , शक्ति रूप का नाम 
द्वार मोक्ष का हो सुलभ, करना ऐसे काम |

छठा रूप कात्यायनी ,हरता सब संताप 
करो मात कीआराधना ,मिट जायेंगे पाप |

कालरात्रि माँ सातवीं , करती कृपा अपार 
मात कृपा से सिद्धि के, खुल जाते सब द्वार |


ह्रदय भरे प्रकाश से , ऐसा माँ का नूर 
भक्त पुन्य पाकर रहें  ,द्वेष लोभ से दूर |