हमराही

सुस्वागतम ! अपना बहुमूल्य समय निकाल कर अपनी राय अवश्य रखें पक्ष में या विपक्ष में ,धन्यवाद !!!!

Thursday, September 28, 2017

स्कन्दमाता माँ ( कुंडलिया )

कहें स्कन्दमाता जिसे,पंचम रूप/दिवस अनूप
कर लो इसकी अर्चना, दिव्य अलौकिक रूप
दिव्य अलौकिक रूप, सदा माँ है सुखदायी
गोद लिए माँ स्कन्द ,चतुर्भुज वह फलदायी
मिले मोक्ष का द्वार ,मनुज मनवांछित पाता
सरिता गौरी रूप,भक्त कहें स्कन्दमाता।।