हमराही

सुस्वागतम ! अपना बहुमूल्य समय निकाल कर अपनी राय अवश्य रखें पक्ष में या विपक्ष में ,धन्यवाद !!!!

Sunday, July 14, 2013

अरुण को ढेरों बधाइयाँ

गूँजेगी  किलकारियाँ, सुबह शाम दिन रात
मात मनीषा बन गई, अरुण बना है तात 

घर गूँजें किलकारियाँ , सो ना पाएं आप
पता चले बाबू तभी , आप बन गए बाप    

गेह ले आई लक्ष्मी , खुशियाँ कई हजार
स्वस्थ रहे खुशहाल हो, पाए स्नेह दुलार 

अरुण मनीषा आपको , बधाई बेशुमार 
मस्त रहो फूलो फलो ,पार्टी दे दो यार  
.........................