हमराही

सुस्वागतम ! अपना बहुमूल्य समय निकाल कर अपनी राय अवश्य रखें पक्ष में या विपक्ष में ,धन्यवाद !!!!

Saturday, November 2, 2013

रूप चतुर्दशी [ दोहे ]

पांच दिनों के पर्व का ,द्वितीय दिन है आज
मना नरक चौदस रहे ,पूरे करें रिवाज // 

संध्या बाद दिए जला, पूजो तुम यमराज 
दिवाली महापर्व का ,दूजा दिन है आज //

उपासना यमराज की, का कर आज विधान 
स्वस्थ रहो ,हर रोग से मुक्त करें भगवान //

नरकासुर का वध किया, देव छुडाये आज
बंदीगृह से मुक्त कर ,कृष्ण बचाई लाज //

नरकासुर के नाश से थम गए अत्याचार 
प्रकाश है विजयी हुआ , मिट गया अन्धकार //

है छोटी दीपावली , करो आज प्रकाश 
आज कृष्ण ने कर दिया ,नरकासुर का नाश //

*******