हमराही

सुस्वागतम ! अपना बहुमूल्य समय निकाल कर अपनी राय अवश्य रखें पक्ष में या विपक्ष में ,धन्यवाद !!!!

Saturday, November 9, 2013

छठ पर्व [ दोहे ]

छठ श्रद्धा और भक्ति का, अद्भुत है त्यौहार 
करके सूर्योपासना व्रत रखो संग प्यार /  

चार दिनों का पर्व है ,छठ पूजा का पर्व 
अर्घ्य दें सुबह शाम हैं, करते इस पर गर्व /

ले नहाय 'खरना' 'टिकरी' ,का मिल खाय प्रसाद,
 छठव्रती सभी इक जगह, अर्घ्य देय के बाद /

'नहाय खाय' प्रथम दिवस,खरना है दिन दूज 
टिकरी रूप प्रसाद का ,खाय सूर्य को पूज /

शुक्ल पक्ष की हो छटी, लेकर सब सामान 
जब दिखती पहली किरण, व्रत का करें विधान /

महापर्व पर छठ के , दोहराय इतिहास
सूर्य देव को अर्घ्य दें, पूर्ण करें उपवास /  

****