हमराही

सुस्वागतम ! अपना बहुमूल्य समय निकाल कर अपनी राय अवश्य रखें पक्ष में या विपक्ष में ,धन्यवाद !!!!

Sunday, January 26, 2014

गणतंत्र दिवस दोहावली


आहत सारे देश का आज है स्वाभिमान 
संग आंसुओं बह गये, सारे ही अरमान 

आज कौन दे देश को,सीधा एक जवाब 
बदलेगी सियासत तो, पूरे होंगे ख़्वाब 

ख़ुशी मनाओ आप भी, गणतंत्र हुए आज 
असली है गणतंत्र जब,पाओ पूर्ण स्वराज 

भिन्न भिन्न हैं झाँकियाँ, बनी राजपथ शान 
पूर्ण यही स्वराज दिवस,बना देश की आन 

सबको है शुभकामना,दिन आज संविधान 
छब्बीस जनवरी दिवस, भारत की है शान 
****